Kisan Andolan: आज से किसान निकालेंगे 6 दिन की पदयात्रा, 26 को भारत बंद, नये कृषि कानूनों का करेंगे होलिका दहन

Kisan Andolan: आज से किसान निकालेंगे 6 दिन की पदयात्रा, 26 को भारत बंद, नये कृषि कानूनों का करेंगे होलिका दहन

कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली बॉर्डर पर डटे किसान नेता आज यानी 18 मार्च से 23 मार्च तक ‘शहीद यादगार किसान-मजदूर पद यात्रा’ निकालेंगे।’पदयात्रा’ 18 मार्च को हरियाणा के हिसार में लाल सड़क हांसी से शुरू होगी और टीकरी बॉर्डर पहुंचेंगी।

केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन की धार तेज करते हुए संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने 26 मार्च को ‘संपूर्ण भारत बंद’ का आह्वान किया है। इसकी रणनीति बनाने के लिए विभिन्न जन संगठनों और संघों के साथ एसकेएम ने बुधवार को मुलाकात की। दरअसल 26 मार्च को किसान आंदोलन के 4 महीने पूरे हो जाएंगे। किसान नेता आज यानी 18 मार्च से 23 मार्च तक ‘शहीद यादगार किसान-मजदूर पद यात्रा’ भी निकालेंगे।

एसकेएम ने एक बयान में कहा, ’23 मार्च को भगत सिंह, राजगुरु और सुखदेव की शहादत के मद्देनजर शहीद दिवस समारोह में शामिल होने के लिए हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पंजाब के लोगों की तैयारी चल रही है।’ ‘पदयात्रा’ 18 मार्च को हरियाणा के हिसार में लाल सड़क हांसी से शुरू होगी और टीकरी बॉर्डर पहुंचेंगी।एक अन्य यात्रा पंजाब के खटकर कलां गांव से शुरू होगी और पानीपत होते हुए सिंघू बॉर्डर पहुचेंगी। तीसरी पदयात्रा मथुरा में शुरू होगी और पलवल की ओर बढ़ेगी।

26 मार्च को राष्ट्रव्यापी बंद का आह्वान

गंगानगर किसान समिति के रंजीत राजू ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि किसान आंदोलन के चार महीने 26 मार्च को पूरे होने के मौके पर राष्ट्रव्यापी बंद के आह्वान के दौरान भी दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान 12 घंटे तक बंद रहेंगे। इसके बाद, 28 मार्च को होली के मौके पर केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों की प्रतियों का होलिका दहन किया जाएगा।

सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक बंद

रंजीत राजू ने बताया, ‘बंद सुबह छह बजे शुरू होगा और शाम छह बजे तक चलेगा और इस दौरान सभी दुकानें तथा डेयरी और सब कुछ बंद रहेगा।’ उन्होंने कहा, ‘हम तीन (नये कृषि) कानूनों की प्रतियों का होलिका दहन करेंगे और उम्मीद है कि सरकार को सदबुद्धि आएगी। वह इन कानूनों को रद्द करेगी और एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) के लिए लिखित गारंटी देगी।’

112 दिनों से लगातार जारी है आंदोलन

किसान नेता पुरषोत्तम शर्मा ने कहा, ‘हम राज्य स्तर पर भी इस तरह की बैठकें करने की कोशिश कर रहे हैं, ताकि बंद हर जगह हो।’ ऑल इंडिया किसान सभा के नेता कृष्ण प्रसाद ने कहा कि 112 दिनों से आंदोलन का लगातार जारी रहना अपने आप में एक उपलब्धि है और अब से यह मजबूत होता जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top